हमारा लक्ष्य

मोहन  फाउंडेशन का मिशन यह सुनिश्चित करना है कि प्रत्येक भारतीय जो अंतिम चरण की अंग विफलता से पीड़ित है, उसे जीवन रक्षक अंग के माध्यम से ‘जीवन का उपहार’ प्रदान किया जाए। फाउंडेशन निम्नलिखित उद्देश्यों के माध्यम से इस मिशन को पूरा करने की परिकल्पना करता है:

1) सार्वजनिक जागरूकता पैदा करना।

2) डॉक्टरों और स्वास्थ्य की देखभाल से जुड़े हुये लोगों को प्रत्यारोपण के समन्वय के लिए प्रशिक्षित करना ।

3) “ब्रेन डेड” के मरीजों के परिवारों को उनके प्रियजनों के अंग दान करने के लिए सलाह देना।

4) अस्पतालों में अंग विफल मरीजों की कम्प्यूटर पर अनुसूचिका बनाना। जिस से अंग दान और अंगों के उपयोग के लिए डॉक्टरों को मरीजों की पूरी सही जानकारी मिल सकें और अंग प्रत्यारोपण शीध्र सुरक्षित सुनिश्चित किया जा सकें।

5) भारत में अंग दान बढ़ाने में मदद करने वाले, अनुकूल कानून पारित करने के लिए सरकार (राज्य और केंद्र) के साथ संपर्क करना ।

6) अंग दान की मुहीम से जुड़े देश के अन्य संगठनों के साथ समन्वय या नेटवर्किंग।

7) अंग दान की कार्यकुशलता को बढ़ावा देने के लिए संसाधन जुटाना।